स्पोकेन इंग्लिश सीखने के सुझाव

<

>

लेसन (अध्याय) - 1

जिस तरह हम अपनी भाषा में शब्दों को बोलते हैं या छोटे बच्चे को सिखाते हैं। उसी तरीके से ही हम इंगलिश (अंग्रेजी) सीखें। सीखने के लिए शब्दकोष का ज्ञान होना जरुरी है। हिन्दी के शब्दों को इग्लिश में ट्रांसलेट कर हिन्दी में बोलना सीखना। आइये, उसी पहले शब्द से शुरुआत करें, जो हमारी प्रथम गुरु ने सिखाया था:

मां - मदर
पप्पा - फादर
बहिन - सिस्टर
भाई - ब्रदर
पानी - वाटर
खाना - फ़ूड

कई शब्दों को एक साथ जल्दी याद कर पाना कठिन है। याद करने के कई तरीके हैं:

जैसे:
१ शब्दों की एक कहानी बनाकर।
२ सम्बन्धित शब्दों को याद रखकर। जैसे: लाल रंग बोलते ही आपके दिमाग में बाकी के रंग हरा, नीला, पीला याद आ जाते हैं।
3. बार बार बोलने,सुनने या पढ़ने से।
4. किसी छ्वी के माध्यम से।
5. शब्दों की अन्ताकछणी खेलने से।
6. रट्टा मार तारीके से।

कई शब्दों को मिलाकर एक कहानी में बदल दे और फिर पढे या रटें। जिस तरह मम्मा बचपन में कहानी और लोरी के माध्यम से भाषा सिखाती थी। कहानी के माध्यम से आप समय और परिस्थिति के अनुसार इंगलिश के शब्दों को याद कर सकेंगे और बोलते समय जरुरी शब्द जल्द ही आपकी जुवान पर आ जायेंगे। एक-एक इंगलिश के शब्द को बोलने से आपकी हिचकिचाहट, डर और शर्म जल्द ही दूर हो जायेगी साथ ही आपका आत्मविश्वास भी बड़ेगा।। सीखने के लिए इसका अभ्यास (प्रेक्टिस) आप कम से कम (ऐटलीस्ट) एक घंटे अवश्य करें। दी गईं कहानियों को पहले हिन्दी के शब्दों का प्रयोग कर समझें फिर इग्लिश शब्दों का प्रयोग करके बोले और समझे की कब और कैसे इग्लिश के शब्दों को बोलना है। इन कहानियों को कई बार पढें। सीखे शब्दों कि प्रेक्टिस के लिये एक समूह (ग्रुप) तैयार करें फिर आपस में बोलना सीखें। त्रुटियों को सुधारने में एक-दूसरे की मदद करें न की मजाक बनाये।

< >


Quick online language learning course




© All rights Reserved.